"दुआ है हमारी तुम खुश रहो उनके साथ.. जो तुम्हें मुझसे ज्यादा खुशियां दें..!!

हर दर्द सबक देता है, और हर सबक इंसान को बदल देता हैं...! 

Shayariraja.com

अजीब सिलसिला है ये जिंदगी का... कोई भरोसे के लिए रोया, कोई भरोसा करके रोया..

फ़िसल कर वक़्त के फर्स पर उम्र ढल रही है... बिन जिये ही लगता है जैसे ज़िंदगी निकल रही है...

मैने सारी दुनिया को छोड़कर जिसे अपना वक्त दिया था... आज उसके पास मुझे छोड़कर सबके लिए वक्त है...!!

लाज़वाब हुआ करती थी हमारी मुस्कुराहट.. एक शख्श को इतनी पसंद आयी की अपने साथ ही ले गया....!

मजबूर कर रहे थे वो हमें दूर होने को.. सायद कोई अजनबी उनके बहुत करीब आ गया था...!!

आसान नहीं होता है... अपनी मोहब्बत को अपनी ही आँखो के सामने किसी और का होते हुए देख पाना...!!

मैं तेरे सामने मुस्कुरा के तो आ जाऊंगा... मगर क्या तुम मेरी चेहरे की उदासियां पढ़ पाओगे...!!

चलो ख़तम हुआ तेरे मेरे प्यार का सफर..  पर तू अपना ख्याल रखना क्योंकि।। छोड़ा तूने है मेने नहीं। .